क्यों ज़रूरी है जानना कौन थीं नूर इनायत ख़ान ?

टीपू सुलतान  के ख़ानदान से रिश्ता था, नूर इनायत ख़ान का जो बाद में जाकर एक बहुत बड़ी जासूस बनी। वो उस वक़्त ऐसा करने वाली पहली मुस्लिम और एशिया मूल की भारतीय थीं, इनके पिता भारत के और माँ एक अमरीकी थीं

नूर का जन्म 1 जनवरी 1914 के दिन मॉस्को में हुआ था, वो दौर था विश्वयुद्ध का नूर के पिता परिवार के साथ रूस में रह रहे थे हालत बिगड़ते देख वो वहां से ब्रिटेन गए फिर वहां से बाद में फ़्रांस में जाकर बस गए

ब्रिटेन ने नूर के ख़ानदान को शरण दी थी वो WAAF में भर्ती हो गईं उन्हें  Wirless Oprator की ट्रेनिंग दी गई, उनकी भाषाओँ में अच्छी पकड़ को देखते हुए यहाँ उन्हें नूर बकर के नाम से पुकारा जाता था

सन 1943 में नूर स्पेशल ऑपरेशंस एग्जीक्यूटिव बन गईं, जैसा भारत में RAW काम करता है। उन्हें फ़्रांस का सेक्शन मिला वो ऐसी पहली एशियाई मूल की मुस्लिम महिला थीं जिसे SOP बनाया गया था। 

कौन थीं नूर इनायत ख़ान जानने के लिए यहाँ क्लिक करें