https://hindeeka.com/fauja-singh-kaun-hai-unki-kahani/

Fauja Singh Kaun Hai Kya hai Unki Kahani

फौजा सिंह कौन हैं?

https://hindeeka.com/fauja-singh-kaun-hai-unki-kahani/
Fauja Singh Ji

भारतीय मूल के ब्रिटिश नागरिक फौजा सिंह ने साल 2003 में टोरेंटो मैराथन में अपनी उम्र के 92 वें साल में दौड़ लगाकर ना सिर्फ सबको चौंका दिया था , साथ ही अपने इस कारनामे के सहारे उन्होंने विश्व रिकॉर्ड भी बनाया था।

इनका जन्म भारत के पंजाब राज्य में 1 अप्रैल सन 1911 में जालंधर के ब्यास गांव में हुआ था, ब्रिटेन में बसने से पहले वो जालंधर में खेती किसानी का काम करते थे, वो बेहतर भविष्य के लिए भारत से ब्रिटेन आ गए। यहीं बस गए उनको ब्रिटेन की नागरिकता भी मिल गई। इतने साल तक यहाँ रहने के बावजूद फौजा सिंह सिर्फ पंजाबी में बातें करते हैं, न उन्हें हिंदी सही तरीके से आती है ना ही वो इंग्लिश में बात करने में सहज हैं।

बचपन में चल भी नहीं पाते थे फौजा सिंह

ताजुब की बात ये नहीं की फौजा सिंह इस उम्र में भी दौड़ लगते हैं और सबको चौंका देते हैं ताजुब की बात ये हैं की फौजा सिंह 6 साल की उम्र तक चल भी नहीं पाते थे।

क्यों चुके थे गिनीज बुक रिकॉर्ड से

फौजा सिंह ने ना सिर्फ टोरेंटो मैराथॉन में इस उम्र में दौड़ लगाई थी। उन्होंने सबसे बुज़ुर्ग धावक का खिताब भी मिला था, उनको उस वक़्त देश और विदेशों में भी मीडिया ने प्रयाप्त जगह दी थी। उन्हें तरह तरह के नाम से पुकारा जाने लगा था कोई उन्हें टर्बनेट टोर्नेडो के नाम से पुकारता तो कोई उन्हें सिख सुपर मैन के  नाम से पुकारता था।

मगर इतनी साडी उपलब्धियों के बावजू फौजा सिंह का नाम गिनीज बुक ऑफ़ रिकॉर्ड में शामिल नहीं किया जा सका था क्योंकि, उनके पास उनकी उम्र को साबित करने के लिए प्रयाप्त कागज़ात नहीं थे।

फौजा सिंह की उपलब्धियां

  • अपनी उम्र के 89 साल में उन्होंने अंतराष्ट्रीय प्रतियोगिताएं में भाग लेना शुरू किया फौजा ने अपनी पहली बार सन 2000 में लंदन में हुई एक मैराथन में हिस्सा लिया 93 साल की उम्र में उन्होंने एक मैराथन 6 घंटे और 54 मिनट में पूरी की।
  • साल 2004 में उन्हें Adidas के एक विज्ञापन में मशहूर बॉक्सर मुहम्मद अली और मशहूर फुटबाल खिलाडी डेविड बेकहम के साथ काम करने का मौका मिला।
  • उन्होंने अपनी आयु वर्ग में 200 मीटर, 400 मीटर और 3000 मीटर  दौड़ में यूनाइटेड किंगडम में रिकॉर्ड बनाये।

इसके अलावा उनकी उपलब्धियां

  • Marathons run: London (6), Toronto (2), New York (1)
  • Marathon debut: London, 2000, aged 89
  • London Flora Marathon 2000: 6:54
  • London Flora Marathon 2001: 6:54
  • London Flora Marathon 2002: 6:45
  • Bupa Great North Run (Half Marathon) 2002: 2:39
  • London Flora Marathon 2003: 6:02
  • Toronto Waterfront Marathon 2003: 5:40
  • New York City Marathon 2003: 7:35
  • London Flora Marathon 2004: 6:07
  • Glasgow City Half Marathon 2004: 2:33
  • Capital Radio Help a London Child 10,000 m 2004: 1:08
  • Toronto Waterfront Half Marathon 2004: 2:29:59
  • Toronto Waterfront Marathon 2011: 8:11:0
  • London Marathon 2012 : 7:49:21
  • Hong Kong Marathon (10 km) 2012: 1:34 (raised $25,800 for charity)
  • Parkrun uk 2012 – Age graded record holder: 179.04% with a time of 38:34
  • Hong Kong Marathon (10 km) 2013: 1:32:28

पुरूस्कार

13 नवम्बर सन 2003 में अमेरिका की एक संस्था National Ethnic Caolition ने फौजा सिंह जी को Ellis Island Medal से सम्मानित किया। संस्था का कहना था की, फौजा जी पहले गैर अमेरिकी हैं जिन्हे ये पुरूस्कार दिया गया है। फौजा जी नस्लीय भेदभाव जैसी समाज में फैली कुरीतियों से लड़ने का एक चेहरा हैं, जो 11 सितबंर 2001 को हुए अमेरिका में आतंकवादी हमले से समाज में फैली हुई है।   

साल 2011  में ब्रिटेनकी एक संस्थ ने फौजा सिंह को Pride of India की उपाधि दी और सम्मानित किया।

बॉलीवुड में फौजा सिंह की बायोपिक

बॉलीवुड के में अक्सर ऐसे लोगों  की Biopic बनाने का चलन है, जिन्होंने ज़िन्दगी में कोई मकाम हासिल किया हो उसी कड़ी में बॉलीवुड के तीन निर्माता राज शांडिल्य, ओमंग कुमार और कुणाल शिवदासानी ने फौजा सिंह की ज़िन्दगी पर आधारित फिल्म बनाने की घोषणा की है। वो जल्द ही इस पर काम शुरू करेंगे। 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.