hallmark-kya-hota-hai-ye-kitna-upyogi-hai

hallmark kya hota hai ye kitna upyogi hai

हॉलमॉर्क क्या होता है

hallmark-kya-hota-hai-ye-kitna-upyogi-hai
Hallmark

आभूषणों और बहुमूल्य वस्तुओं की गुणवत्ता और उनकी शुद्धता को प्रमाणित करने के लिए उनपर एक निशान लगाया जाता है, जिसमें इस आभूषण या धातु की शुद्धता और गुणवत्ता का प्रमाण माना जाता है इस निशान को हॉलमार्क कहते हैं।

हॉलमार्क का निर्धारण कौन करता है

hallmark-kya-hota-hai-ye-kitna-upyogi-hai
BIS

भारतीय मानक ब्योरो BIS , Bureau of Indian Standards भारत में एक मात्र संस्था है जो हॉलमार्क का निर्धारण करती है। हॉलमार्क शुद्धता की गारंटी के तौर पर देखा जाता है, जो ग्राहकों को सरकार की तरफ से दिया जाता है हॉलमार्क का निर्धारण भारत मानक ब्यूरो अधिनियम के अंतर्गत आता है।

हॉलमार्क का निशान और कुछ ख़ास अंक रहते हैं, गहनों पर जिससे ये निर्धारित किया जाता है की, वो कितने शुद्ध हैं हॉलमार्क के निशान के साथ 999, 916, 875 जैसे कुछ अंक लिखे होते हैं। क्या इन अंकों का महत्त्व-

  • 999 – 24 कैरेट,  99.9 % शुद्ध
  •  958 – 23 कैरेट  95.8 % शुद्ध
  • 916 – 22 कैरट    91.6 % शुद्ध
  • 875 – 21 कैरेट     87.5 % शुद्ध
  • 750 – 18 कैरेट     75 %    शुद्ध

कैसे निर्धारण होता है इन अंकों का

हॉलमार्क के साथ जो अंक होते हैं, वो कैसे निर्धारित किये जाते हैं ? इसका जवाब बहुत आसान है मान लीजिये आपने जो गहना ख़रीदा है उसमें 24 कैरेट का अंक यानी 999 अंकित है, अब आपको करना ये है की 22 को 24 के साथ भाग देना है उसके बाद जो परिणाम आए उसको 100 से गुणा करना है (22/24×1000=916) इस तरह आप अपने गहनों की गुणवत्ता उन अंकों के हिसाब से समझ सकते हैं।

क्यों शुद्ध सोने से नहीं बनते गहने

आप जो गहने सोने के पहनते वो शुद्ध सोने के नहीं होते, वो अपने शुद्ध रूप में बिलकुल मुलायम होते हैं। उनसे गहने नहीं गढ़े जा सकते उसके लिए सोने में कुछ मात्रा अन्य धातुओं का भी मिलाया जाता है, जिससे उनको मनचाहा आकार दिया जा सके। 24 कैरेट के सोने से गहने नहीं बनाये जा सकते इसलिए 22 कैरेट सोने का उपयोग किया जाता है। यहीं पर अगर ग्राहक जानकार ना हो तो उसके साथ धोका हो सकता है 24 कैरेट बता कर उसको 22 कैरट के गहने बेच दिए जाते हैं।

कैसे पता करें सोने की मौजूदा कीमत

जब भी आप सोना या चाँदी खरीदने की योजना बनाये आपको सबसे पहले ये पता कर लेना चाहिए की, अभी सोने या चाँदी का बाजार में क्या भाव चल रहा है। पता करने के लिए आप Indian Bullion Jweller Assosiation की वेब साइट पर जा कर देख सकते हैं। उनकी साइट है https://www.ibja.co/ इस पर आपको सोने चाँदी की प्रतिदिन कीमत को बढ़ता घटता देख सकते हैं इस जानकारी से आपको काफी मदद मिलेगी।

भारत में गहनों का चलन

भारत में गहनों का चलन सदियों पुराना है, ये आदिकाल से पुरुषों और विशेषकर महिलाओं की पहली पसंद है। आज भी भारतीय महिलाएं अपने गहनों को पीढ़ियों तक साजो कर रखती हैं, और अपने परिजनों को भेंट के रूप में दिया करती हैं। आपने देखा होगा की अकसर घरों में महिलाएं अपनी दादी नानी के दिए गहने आज भी संजो के रखती हैं और विशेष मौकों पर उनको पहनती हैं।

सोना चांदी हमारे समाज में सिर्फ सौंदर्य का साजो सामन नहीं बल्कि, ये परम्परा जैसी है सिर्फ आम महिलाये या पुरुष गहनों को पसंद नहीं करते। हमारे देवी देवताओं की प्रतिमाओं पर भी आपने देखा होगा की, किस तरह वो गहनों से ढके रहते हैं पुराने से पुराने मदिर में आपको ये मूर्तियां मिल जाएँगी.

अब ज़रूरी हुआ हॉलमार्क 

भारतीय केंद्र सरकार ने सोने और कीमती धातुओं में 16 जून 2021 से हॉलमार्क ज़रूरी कर दिया है जिसके तहत जिन व्यवसाइयों का सालाना टर्नओवर 40 लाख से अधिक है उनको अब हॉलमार्क लगे हुए सोने और महंगे धातूनों का से छूट दी गई है यानी जिनका टर्नओवर 40 लाख से अधिक है उनको अब सख्ती से हॉलमार्क का इस्तेमाल करना होगा अभी अगस्त 2021 तक कोई penalti का प्रावधान नहीं है।

आपको ये जानकारी कैसी लगी हमें ज़रूर बताएं कमेंट कर के !

Leave a Reply

Your email address will not be published.