CUCET kya hai in Hindi | Central University admission process

अब भारत में सेंट्रल यूनिवर्सिटी में एडमिशन के लिए किसी भी विद्यार्थी को Common University Entrance Test (CUCET) में बैठना और उसको पास करना अनिवार्य होगा इससे पहले ये व्यवस्था थी की कक्षा 12 वीं के मार्क्स के अनुसार सेंट्रल यूनिवर्सिटी में एडमिशन मिल जाया करता था यह फैसला यूनिवर्सिटी ग्रांट्स कमीशन (UGC) ने किया है. आइये जान लेते हैं क्या है CUCET ? कब से लागु होगा CUCET ?

क्या है CUCET

देश भर में 45 सेंट्रल यूनिवर्सिटी हैं जहाँ एडमिशन प्राप्त करना हर विद्यार्थी का सपना होता है अब तक ऐसी व्यवस्था थी 12 वीं के विद्यार्थियों के अंकों के हिसाब से इन विश्वविद्यालयों में प्रवेश दिया जाता था मगर UGC ने इस व्यवस्था में परिवर्तन का फैसला कर लिया है शैक्षणिक वर्ष 2022-23 से ये फैसला लागु होने जा रहा है

ये फैसला सिर्फ केंद्रीय विश्वविद्यालय के लिए लिया गया है राज्य के अन्य विश्वविद्यालय और निजी विश्वविद्यालय अगर चाहें तो वो भी अपने संस्थानों में प्रवेश के लिए इस प्रक्रिया को अपना सकते हैं

क्यों लिया गया CUCET का फैसला

भारत एक बहुत ही बड़ा देश है जहाँ अलग अलग राज्य हैं जिनकी अपनी अपनी शिक्षा प्रणाली है इस वजह से उनके अंक देने की व्यवस्थाएं अलग होती हैं जब वहां के विद्यार्थी किसी केंद्रीय विश्व विद्यालय में प्रवेश हेतु जाते हैं तो उनके अंकों के आधार पर उनको प्रवेश देना काफी मुश्किल भरा काम हो जाता है इस परेशानी को देखते हुए UGC ने देश के सभी 45 केंद्रीय विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए CUET अनिवार्य कर दिया है

ज़रूर देखें – साल 2022 CUET का फ्री सिलेबस डाउनलोड कीजिये

कैसे होगा ये CUET

University Grants Commission (UGC) ने ये खुलासा किया है की देश की केंद्रीय विश्वविद्यालयों में दाखिले के लिए सभी विद्यार्थियों को Common University Entrance Test से गुज़रना होगा अब सवाल ये है की किस तरह और कैसे होंगे ये टेस्ट आइये एक नज़र देख लेते हैं

  • ये टेस्ट साढ़े तीन घंटे का होगा और इसमें एनसीईआरटी की पाठ्य पुस्तकों पर आधारित बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाएंगे
  • ये तीन हिस्सों में होगा जिनमें लैंग्वेज टेस्ट, 27 डोमेन स्पेसिफिक टेस्ट और एक जनरल एप्टीट्यूट टेस्ट होगा
  • पहले पार्ट में कैंडिडेट अपनी पसंद के हिसाब से लैंग्वेज टेस्ट दे सकेंगे. उन्हें 13 भाषाओं में से किसी एक को चुनना होगा
  • परीक्षा के दूसरे हिस्से में डोमेन-स्पेसिफिक नॉलेज का परीक्षण किया जाएगा. इसके लिए छात्रों को 27 डोमेन में से कम एक और अधिकतम 6 डोमेन का चुनाव करना होगा
  • सीयूईटी के तीसरे पार्ट में करेंट अफेयर्स, सामान्य ज्ञान, सामान्य मानसिक क्षमता, गणितीय क्षमता, कक्षा 8 तक की क्वांटिटेटिव रीजनिंग, लॉजिकल और एनालिटिकल रीजनिंग से जुड़े प्रश्न पूछे जाएंगे. यह टेस्ट तभी देना होगा, जब कैंडिडेट जिस यूनिवर्सिटी या प्रोग्राम में दाखिला लेना चाहता है, उसमें ऐसी मांग की गई हो

ये भी ज़रूर देखें – CUCET में भाग लेंने वाले कॉलेज और उनके सीटों की सूचि

कब होगा CUET कौन करवाएगा कौन

भारत की National Testing Agency (NTA) इस टेस्ट को आयोजित करेगी ये एक कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट होंगे जिसे जुलाई के पहले हाफ्ते में हर साल आयोजित किया जायेगा ये टेस्ट दो भाग में आयोजित किये जायेंगे इसे 13 भाषाओं हिंदी, अंग्रेजी, गुजराती, तमिल, तेलुगू, कन्नड़, मलयालम, उर्दू, असमिया, बांग्ला, पंजाबी, ओडिया और अंग्रेजी में आयोजित किया जायेगा इस टेस्ट के लिए फॉर्म अप्रैल के पहले महीने में मिलना प्रारंभ होगा

CUET के लिए कैसे करें आवेदन

जो विद्यार्थी किसी केंद्रीय विश्वविद्यालय में प्रवेश चाहते हैं उनको सीयूईटी के टेस्ट देने होंगे जिसे लिए वो इसके

आधिकारिक वेबसाइट- https://nta.ac.in पर जा कर रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं क्या है रजिस्ट्रेशन की पूरी प्रक्रिया चरणबद्ध तरीके से देखें

  • ‘आवेदन प्रक्रिया’ लिंक पर क्लिक करें
  • अपना विवरण दर्ज करें और आवश्यक क्रेडेंशियल सबमिट करें
  • एक बार हो जाने के बाद, सीयूसीईटी आवेदन पत्र डाउनलोड करें, आगे के संदर्भ के लिए एक प्रिंट आउट लें।

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) द्वारा वित्त पोषित 45 केंद्रीय विश्वविद्यालय हैं। सीयूईटी का पाठ्यक्रम एनसीईआरटी के कक्षा 12 के मॉडल पाठ्यक्रम के अनुरूप होगा। उन्होंने कहा कि राज्य विश्वविद्यालय, निजी विश्वविद्यालय और डीम्ड विश्वविद्यालय चाहें तो प्रवेश के लिए सीयूईटी स्कोर का उपयोग कर सकते हैं।

ऐसी अन्य महत्वपूर्ण जानकारियों के लिए आप यहाँ क्लिक करें

क्या है CUCET ?

सेंट्रल यूनिवर्सिटी में एडमिशन के लिए किसी भी विद्यार्थी को Common University Entrance Test (CUCET) में बैठना और उसको पास करना अनिवार्य होगा इससे पहले ये व्यवस्था थी की कक्षा 12 वीं के मार्क्स के अनुसार सेंट्रल यूनिवर्सिटी में एडमिशन मिल जाया करता था

क्यों लिया गया CUCET का फैसला ?

भारत एक बहुत ही बड़ा देश है जहाँ अलग अलग राज्य हैं जिनकी अपनी अपनी शिक्षा प्रणाली है इस वजह से उनके अंक देने की व्यवस्थाएं अलग होती हैं जब वहां के विद्यार्थी किसी केंद्रीय विश्व विद्यालय में प्रवेश हेतु जाते हैं तो उनके अंकों के आधार पर उनको प्रवेश देना काफी मुश्किल भरा काम हो जाता है इस परेशानी को देखते हुए UGC ने देश के सभी 45 केंद्रीय विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए CUET अनिवार्य कर दिया है

कैसे होगा ये CUET ?

ये टेस्ट साढ़े तीन घंटे का होगा और इसमें एनसीईआरटी की पाठ्य पुस्तकों पर आधारित बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाएंगे

कैसी लगी आपको हमारी ये जानकारी अगर आपके पास हमारे लिए कोई सुझाव है तो हमें ज़रूर कमेंट करके बताएं !आप अगर लिखना चाहते हैं हमारे ब्लॉग पर तो आपका स्वागत है

हमसे जुड़े : Facebook | Telegram | Instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published.