major-sandeep-unnikrishnan-lifestyle-biography-movie

major sandeep unnikrishnan | lifestyle | biography | movie

“ऊपर मत आना मैं उन्हें संभाल लूंगा”

ये आखरी शब्द थे, मेजर संदीप उन्नीकृष्णन (Major Sandeep Unnikrihshnan) अपने साथी कमांडो के लिए जब वो मुंबई पर हुए आतंकवादी हमले में आतंकवादियों से लोहा ले रहे थे मुंबई के ताज होटल में ऑपरेशन ब्लैक टोरनेडो Operation Black Tornado के दरम्यान।

उसके बाद वो होटल ताज में छुपे हुए आतंकवादियों की गोलियों का शिकार हो गए और उन्होंने अपना सर्वोच्च बलिदान दिया वो शहीद हो गए।

कौन थे संदीप उन्नीकृष्णन

major-sandeep-unnikrishnan-lifestyle-biography-movie

15 मार्च 1977 के दिन केरल के कोझीकोड ज़िले के चेरूवेनूर में एक मलियाली परिवार में हुआ था, इनके पिता इसरो बैंगलोर में एक वैज्ञानिक थे, उनका नाम के उन्नीकृष्णन और माता का नाम धनलक्ष्मी उन्नीकृष्णन है।

संदीप की शुरुवाती पढाई लिखाई बेंगलोरे में ही हुई उनके स्कूल का नाम The Frank Anthony Public School था, वो विज्ञान के छात्र थे सन 1995 में उन्होंने National Defence Academy Pune ज्वाइन किया।

वो अपने पढाई के दिनों में खेल कूद के हर गतिविधि में हिस्सा लिया करते थे, उनको फिल्मे देखने का बहुत शोक था खाने पिने के शौक़ीन भी थे, संदीप उनको दिन भर में काम से काम दो मांसाहारी भोजन खाने की आदत थी।

सन 2008 में मेजर संदीप उन्नीकृष्णन (Major Sandeep Unnikrihshnan) की शादी हुई थी उनकी पत्नी का नाम नेहा उन्नीकृष्णन है।

मेजर संदीप उन्नीकृष्णन

वो बचपन से ही सेना में जाना चाहते थे यहाँ तक की उनकी हेयर स्टाइल हमेशा फाजियों के जैसी रही, यहाँ एक दिलचस्प बात ये है की, जब उन्होंने सेना में अपनी कमिशन हासिल की उस वक़्त पाकिस्तान के साथ भारत का युद्ध चल रहा था वो दिन था 12 जुलाई 1999 का।

संदीप उन्नीकृष्णन 7 बिहार रेजिमेंट में दाखिल हुए और लेफ्टिनेंट बनकर मेजर उन्नीकृष्णन (Major Sandeep Unnikrihshnan) कारगिल युद्ध में शामिल हुए और उन्होंने कई दुश्मनो को उनकी सही जगह यानी नर्क तक पहुँचाया था अपने शौर्य से।

कारगिल युद्ध और मेजर उन्नीकृष्णन

दुश्मन देश के नापाक हरकतों का देश की सेना ने मुहतोड़ जवाब दिया जिसमें बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया था मेजर संदीप उन्नीकृष्णन (Major Sandeep Unnikrihshnan) ने जब उन्हें कारगिल की एक पोस्ट पर भेजा गया पाकिस्तानी सेना भारतीय सैनिकों पर लगातार गोलियां बरसा रही थी।

मेजर उन्नीकृष्णन अपनी टीम जिसमें 6 और जवान शामिल थे, 31 दिसंबर 1999 के दिन 200 मीटर दूर उस पोस्ट पर फिर से कब्ज़ा कर लिया जहाँ पर पाकिस्तानी फौजों ने बेजाकब्जा कर रखा था।

कुछ सालों तक वो सेना सेना में अपने सेवाएं देते रहे उसके बाद उन्होंने साल 2007 में NSG यानी National Security Guard ज्वाइन कर लिया एक कमांडो के तौर पर।

 

क्या आप जानते हैं मेजर मोहित शर्मा के बारे में 

 

क्या था ऑपरेशन ब्लैक टोरनेडो

major-sandeep-unnikrishnan-lifestyle-biography-movie

26 नवम्बर साल 2008 का दिन ना सिर्फ मुंबई बल्कि भारत के इतिहास में एक काला दिन साबित हुआ, इस दिन पाकिस्तान के कुछ 10 आतंकवादी समुंदरी रास्ते के सहारे मुंबई में आ गए। उन्होंने मुंबई की सड़कों पर रेल्वे स्टेशन पर मौत का तांडव मचा दिया था, ये आतंकवादी लश्कर- ए- तैयबा से सम्बन्ध रखते थे।

26 नवम्बर से शुरू हुए ये हमले 29 नवम्बर तक चले, जिसमें लगभग 166 मासूम लोगों की जान चली गई और लगभग 300 लोग घायल भी हुए। ये हमले छत्रपतिशिवाजी टर्मिनस, ओबेरॉय ट्राइडेंट, तक पैलेस एंड टावर, कामा हॉस्पिटल, यहूदियों का एक सामूहिक भवन नरीमन हाउस, लिओपोल्ड कैफ़े, मेट्रो सिनेमा, सेंत ज़ेवियर कॉलेज  और टाइम्स ऑफ़ इंडिया बिल्डिंग के आसपास के इलाके में हो रहे थे।

28 नवम्बर तक मुंबई पुलिस और अन्य सुरक्षा एजेंसियों ने ताज होटल के अलावा सभी जगहों को सुरक्षित कर लिया था, आतंकवादियों से मगर ताज होटल में छुपे हुए आतंकियों के सफाये के लिए NSG यानी National Security Guard  के कमांडोज़ को बुलाया गया, और इस ओप्रशन का नाम दिया गया Operation Black Tornado 

इस ऑपरेशन को मेजर संदीप उन्नीकृष्णन ही लीड कर रहे थे, उन्होंने कमांडो सुनील यादव की जान बचने के लिए अपनी जान दे दी उन्होंने कहा था सुनील से की तुम निचे रहो मैं ऊपर जा रहा हूँ ऊपर की ओर से तेज़ गोली बारी हो रही थी तब संदीप ने सुनील से कहा “ऊपर मत आना मैं उन्हें संभाल लूंगा” ये शब्द आख्रिरी शब्द हो गए मेजर संदीप उन्नीकृष्णन के।

 

आपके लिए ये जानना भी ज़रूरी है कौन थे सैम मानेकशॉ 

 

मेजर संदीप उन्नीकृष्णन की बायोपिक

major-sandeep-unnikrishnan-lifestyle-biography-movie

समय समय पर बॉलीवुड में ऐसी फिल्मे बनती रहती हैं जो किसी की ज़िन्दगी की सच्ची घटनाओं पर आधारित रहतीं है, इसी तरह इस बार फिल्म बनने जा रही है, शहीद मेजर उन्नीकृष्णन की ज़िन्दगी पर आधारित इस बायोपिक का नाम है “मेजर” 

इस फिल्म का डायरेक्ट करेंगे शशि किरण टिक्का और इसके निर्मित हैं सोनी पिक्चर्स इस बायोपिक को तेलगु और हिंदी में पहले बनाया जायेगा और बाद में मलयालम ने डब किया जायेगा इस फिल्म में मुख्य भूमिका यानी मेजर संदीप उन्नीकृष्णन का किरदार अदिवि सेष, सोभिता धूलिपाला, साई मांजरेकर, प्रकाश राज, रेवती और  मुरली शर्मा होंगे ये बायोपिक मेजर 2 जुलाई 2021 तक रिलीज़ होने वाली है।

 

कैसी लगी आपको ये जानकारी हमें ज़रूर बताएं अगर कोई सुझाव हो हमारे लिए तो आप कमेंट करें धन्यवाद!

 

अगर आप हमारे साथ अपने Article साँझा करना चाहते हैं तो आपका स्वागत है !

 

हमसे जुड़े : Facebook | Telegram 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.