Draupadi Murmu Jiwan Parichay | Draupadi Murmu Hindi

देश की दूसरी महिला और पहली आदिवासी महिला राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू Draupadi Murmu ने आज 25 जुलाई 2022 के दिन शपत ली राष्ट्रपति के तौर पर इस मौके पर भारतीय सेना की तरफ से उन्हें 21 तोपों की सलामी दी गई, भाजपा और NDA की तरफ से उन्हें राष्ट्रपति चुनाव में उम्मीदवार बनाया गया था वहीँ विपक्ष की तरफ से यशवंत सिन्हा को उम्मीदवार बनाया गया था मगर द्रौपदी मुर्मू ने उन्हें बहुत मतों के अंतर से हरा दिया

देश की इस पहली महिला आदिवासी राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के बारे में आज ना सिर्फ भारत का हर नागरिक जानना चाहता है बल्कि इन्टरनेट पर विदेशों से भी इनके बारे में जानकारियाँ ली जा रही हैं इसको देखते हुए हम भी लाए हैं आपके लिए उनकी जीवनी और उनसे जुडी हुई हर बात आइये देख लेते हैं कौन हैं द्रौपदी मुर्मू और कैसा है अब तक का उनका जीवन

हम hindeeka में अपने विजिटर को ऐसी लोगों की जीवनी साँझा करते हैं जिन्होंने समाज के लिए कुछ अच्चा काम किया हो या फिर जिनका जीवन दूसरों के लिए प्रेरणा स्रोत हो आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय साँझा कर रहे हैं

द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय

Draupadi Murmu Jiwan Parichay

उड़ीसा के मयुरभंज जिले के छोटे से गाँव उपरबेडा में एक आदिवासी परिवार में द्रौपदी मुर्मू Draupadi Murmu का जन्म 20 जून 1958 के दिन हुआ इनके पिता का नाम बिरंची नारायण टुडू था इनकी माता जी के बारे अभी कोई जानकारी उपलब्ध नहीं हो सकी है जैसे ही उनके बार में जानकारी मिलेगी हम आपको अपडेट कर देंगे इनका परिवार संथाली आदिवासी समुदाय का है इनके दो भाई हैं भगत टुडू और सारणी टुडू इनके पिता पेशे से किसान थे

नाम द्रौपदी मुर्मू Draupadi Murmu
जन्म तिथि 20 जून 1958
जन्म स्थान उपरबेडा, ज़िला – मयुरभंज, उड़ीसा
पिता का नाम बिरंची नारायण टुडू
माता का नाम उपलब्ध नहीं है
पति का नाम श्याम चरण मुर्मू ( निधन 2014)
बेटी का नाम इतिश्री मुर्मू
भाई बहन भरत टुडू (भाई) , सारणी टुडू (भाई)
धर्म हिन्दू
जाति संथाली, आदिवासी
पेशा राजनीती
पार्टी भारतीय जनता पार्टी

द्रोपदी मुर्मू की पढाई लिखाई

बिरंची नारायण टुडू जोकि द्रौपदी मुर्मू Draupadi Murmu के पिता थे वो अपने गाँव के प्रधान थे और उनका पेशा खेती का था बहुत मुश्किल से घर का गुज़ारा हो पता था मगर फिर भी उन्होंने बच्चों की पढाई मे किसी किस्म की कोई कमी नहीं होने दी बात जहाँ तक द्रौपदी मुर्मू की है तो उन्होंने अपनी स्कूली पढाई गाँव के ही स्कूल से शुरू की फिर आगे की पढाई के लिए वो भुवनेश्वर चली गई जहाँ उन्होंने रमा देवी महिला कॉलेज से बी. ए की डिग्री ली

ये भी जानिए – कैसे होता है राष्ट्रपति का चुनाव ?

द्रौपदी मुर्मू का करियर

अपनी पढाई पूरी करने के बाद उन्होंने नौकरी करने की सोची जिसके लिए उड़ीसा सरकार के सिंचाई और उर्जा विभाग में जूनियर असिस्टेंट कि नौकरी कर ली द्रौपदी Draupadi Murmu पढने लिखने की बहुत शौक़ीन हैं इस शौक के चलते उन्होंने लम्बे समय तक रायरंगपुर के श्री अरविंदो इंटिग्रल एजुकेशन एंड रिसर्च सेंटर शिक्षक के तौर पर उन्होंने अपनी सेवाएं भी दीं

द्रौपदी मुर्मू का निजी जीवन

जितना संघर्ष उन्होंने अपनी बाकी ज़िन्दगी में देखा उतना ही संघर्ष उन्होंने अपनी निजी ज़िन्दगी में भी देखा बहुत कम उम्र में उनके दो बेटों की मृत्यु हो गई और पति का भी साथ उनको कम मिला मगर कभी उन्होंने किसी भी परिस्तिथि में हार नहीं मानी द्रौपदी मुर्मू Draupadi Murmu के पति का नाम श्याम चरण मुर्मू था वो एक बैंक में काम किया करते थे उनकी एक बेटी है जिसका नाम इतिश्री मुर्मू है

द्रौपदी मुर्मू का राजनैतिक सफ़र

शुरू से है सरल और सौम्य स्वभाव की रही हैं द्रौपदी मुर्मू Draupadi Murmu समाज के लिए कुछ करने की लालसा उन्हें राजनीती तक ले आई उन्होंने साल 1997 में अपने राजनैतिक सफ़र की शुरुवात की और उन्होंने भाजपा ज्वाइन कर लिया और रायरंगपुर नगर पंचायत में वो पार्षद चुनी गई

फिर साल 2000 में वो रायरंगपुर नगर पंचायत में अध्यक्ष चुनी गई वो भारतीय जनता पार्टी की अनुसूचित जाति मोर्चा की उपाध्यक्ष भी रहीं

उड़ीसा में बीजू जनता दल और भारतीय जनता पार्टी की सरकार में द्रौपदी मुर्मू ने कई महत्वपूर्ण पदों को संभाला था

  • साल 2000 से 2002 कर वह वाणिज्य और परिवहन स्वतंत्र प्रभार मंत्री रहीं
  •  साल 2002 से 2004 तक मत्स्य पालन और पशु संसाधन विकास राज्य मंत्री के तौर पर काम किया
  • ओडिशा के रायगंज विधानसभा सीट से विधायकी का चुनाव भी जीता
  • साल 2015 से 2021 तक झारखंड की राज्यपाल भी नियुक्त हुईं। वह राज्य की पहली महिला गवर्नर बनीं

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू

पूर्व राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद का कार्यकाल खत्म हुआ उनकी जगह देश को दूसरी महिला एवं पहली आदिवासी महिला के रूप में नया राष्ट्रपति मिल गया है द्रौपदी मुर्मू Draupadi Murmu जिन्होंने आज देश के सर्वोच्च पद की शपथ ली है

संसद के सेंट्रल हाल में सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायधीश एन. वी. रमन्ना ने उनको शपथ दिलवाई इस मौके पर प्रधानमंत्री समेत सभी दलों के सांसद एवं अन्य गण्यमान व्यक्ति शामिल हुए

द्रौपदी मुर्मू से जुडी कुछ अन्य बातें (F&Q)

द्रौपदी मुर्मू कौन हैं ?

द्रौपदी मुर्मू Draupadi Murmu भारत की 15 वीं राष्ट्रपति है वो दूसरी महिला एवं पहली आदिवासी महलिया राष्ट्रपति हैं

द्रौपदी मुर्मू कहाँ तक पढी है ?

द्रौपदी मुर्मू Draupadi Murmu ने भुवनेश्वर के रमा देवी महिला कॉलेज से बी. ए की डिग्री ली

द्रौपदी मुर्मू का परिवार ?

बहुत कम उम्र में उनके दो बेटों की मृत्यु हो गई और पति का भी साथ उनको कम मिला मगर कभी उन्होंने किसी भी परिस्तिथि में हार नहीं मानी द्रौपदी मुर्मू Draupadi Murmu के पति का नाम श्याम चरण मुर्मू था वो एक बैंक में काम किया करते थे उनकी एक बेटी है जिसका नाम इतिश्री मुर्मू है

द्रौपदी मुर्मू की बेटी का नाम क्या है ?

द्रौपदी मुर्मू Draupadi Murmu की बेटी का नाम इतिश्री मुर्मू है

द्रौपदी मुर्मू के पति का नाम क्या है ?

द्रोपदी मुर्मू Draupadi Murmu के पति का नाम श्याम चरण मुर्मू है

भारत की पहली महिला राष्ट्रपति कौन थीं ?

भारत की पहली महिला राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल थीं उनका कार्यकाल 25 जुलाई 2007 से 25 जुलाई 2012 तक का था

ऐसी अन्य जानकारियों के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

कैसी लगी आपको हमारी ये जानकारी अगर आपके पास हमारे लिए कोई सुझाव है तो हमें ज़रूर कमेंट करके बताएं !आप अगर लिखना चाहते हैं हमारे ब्लॉग पर तो आपका स्वागत है

हमसे जुड़े : Facebook | Telegram | Instagram

One Comment on “Draupadi Murmu Jiwan Parichay | Draupadi Murmu Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published.